Sad Friend Status In Hindi / दोस्ती का स्टेटस
Sad Friend Status In Hindi / दोस्ती का स्टेटस


दोस्ती  क्या  है?

दोस्ती  वो  रिश्ता  है....  जो  बनाते  है  सभी।  लेकिन

निभाते  है  सिर्फ  एक। ....  दोस्ती  से  बड़ा  और  कोई

 रिस्ता  नहीं  है। ....  दुनिया  मे  आते  है  सब  अनजान

बनकर।  लेकिन  जाते  है  सब  करोड़ो  रिश्ते  बनाकर। 

 उनमेसे  एक  दोस्त।  जो  हर  मोड़   पे  होगा।  लेकिन

 साथ  निभाएगा  सिर्फ  एक ---- सच्चा  दोस्त ?  लेकिन 

 सच्चा  दोस्त  भी  पागल  होता  है  किसी  के  भी 

 बात  मे  आजाता है। 


Sad  Friend  Status 

1.  किसी  इश्क़  करने  वाले  ने  मुझसे  कहा। 
की  मत  करना  दोस्ती  दोस्तों  के  भीड़  में  तू  खो जायेगा। 
की  मत  करना  दोस्ती  दोस्तों  के  भीड़  में  तू  खो जायेगा। 
मैंने  कहा... कभी  आ  मेरे  मोहल्ले  में... और  मिल  ज़रा  मेरे  दोस्तों  से। 
कभी  आ  मेरे  मोहल्ले  में....  और  मिल  जरा  मेरे दोस्तों  से। 
मुझे  तो  इतना  यक़ीन  हैं  तू  इश्क़  करना  बूल  जायेगा।


2.  यार  है  अपना  पुराना  गुस्सा  उसपे  कियूं  हैं  दिखाना। माना   गलती  है  उसका।  लेकिन  यार  भी  तो  है  आपना  पुराना


3.  दोस्ती  वो  होता  है  जो  आज  तक  कोई  नहीं  पाया। 


4.  तू  मेरा  दोस्त  हैं  माना।  लेकिन  दोस्ती  का  फ़ायदा मत  उठाना।  


5.  दोस्ती  के  बिना  वो  पढाई  ही  
किया   दोस्ती  के  बिना वो  मस्ती  ही  किया। 


6.  हर  दर्द  पे  तू  संभाला , हर  दर्द  पे  तू  दवा  लगाया। लेकिन  मुझको  छोड़   के  क्यूँ  गया।

 

7.  हाँ  माना  गलती  था  मेरा    लेकिन  तुझे  दिखाई  क्यूँ  नहीं  दिया , एक  थप्पड़  ही  मार  लेता। 


8.  मुश्किल  है  तूझ  से  जुदा  होना। वक़्त  को  बोलदे  की नहीं  होगा  मुझसे  अलविदा  बोलना। 


9.  एक  दोस्त  था  आँसू  पोछत  था  मेरे। वर्ना  रुलाने वालोने  कोई  कसार  नहीं  छोड़ा। 


10.  दिल  तो  था  मेरा  तुझसे  मिलने  का  बोहोत।  लेकिन तेरे  खामोसिने  रोक  लिया। 


11.  यार  है  तू  मेरा  पुरा
ना  , अगर  मुझसे  गलती  हुआ  तो कभी  छोड़  के  मात  जाना। 


12.  मेरा  दिल  घबरा  रहा  है।  दोस्त  जरा  कंधे   मै  हात रखना। 


13.  दोस्ती  किया  है। दोस्ती  बिना  बात  का  रिस्ता  है।


14.  गुड  फ्रेंड  आप  का  हर  स्टोरीज  जनता  है  लेकिन  बेस्ट फ्रेंड  आप  का  स्टोरीज  का  
हर  एक  पार्ट  है। 


15.  दोस्त  ढूंढ़ना  बोहोत  आसान  है।  लेकिन  दोस्ती निभाना  बोहोती  मुश्किल  हैं।  


16.  - सबसे  बड़ा  रिस्ता?
-दोस्ती 
- वो  क्यूँ ?
-क्यूंकि  दोस्ती  रिश्तो  से  नहीं  दिल  से  पैदा  होती  है। 
-और  सबसे  खतरनाक  दुसमन ?
- कोई  गहरा  या  पुरा
ना  दोस्त। 


17.  मेरा  एक  दोस्त  है  जो  मुझे ! बहुत  सताता  है। 
मेरा  एक  दोस्त  है  जो  मुझे ! बहुत  सताता  है। 
लेकिन  न  जाने  क्यू। 
लेकिन  न  जाने  क्यू। 
मुझे  सुकून  भी। 
मुझे  सुकून  भी। 
उसी  से  मिले  तो  
आता   है।


18.  दोस्त  को  भूलना  गलत  बात  है।

दोस्त  को  भूलना गलत  बात  है। 

उन्हीं  का  ज़िन्दगी  भर  का  साथ  है।  और  अगर  भूल गए  तो  खली  हाथ  है।  और  अगर। .. साथ  है  तो  ज़माना  कहे  गा किया बात  है। 


19.  दुनिया  में  हज़ारो  रिश्ते  बनाओ। 
दुनिया  में  हज़ारो  रिश्ते  बनाओ। 
लेकिन  एक  रिश्ता... ऐसा  बनाओ। 
के  जब  हजारों  आप  के  खिलाफ  हो। तो  वो  एक "हज़ार"  के  बराबर  हो। 



20.  जिंदेगी  तो  खुदा  का  नेमत  है।  जो  इस  जिंदगी  को नहीं  समझा  उसके  जिंदगी  पे  नालत  है। वैसे  ही  जो दोस्त  दोस्ती  न  समझा  उसपे  नालत  हैं।


21.  वो  दोस्ती  ही  कैसा  जो  दर्द  के  हिस्से  मे  न  हो। 



22.  मे  सब  से  लड़ते  रह  गया। लेकिन  आज  तक  दोस्ती का  घाव  से  बच  नहीं  पाया।


23.  हर  दोस्त  आपका  हर  कमजोरी  जानता  है। लेकिन सच्चा  दोस्त  आपका  कमजोरिओं  को  
छुपाता  हैं। 


24.  सच्चा  दोस्त  का  खामोसी.....  
दुसमन  के  वार  से ज्यादा  दर्द  देता  हैं। 


25.  यहाँ  बोहोत  ही  अनोखा  है  जब  दो  अजनबी  दोस्त  बन  जाता  हैं...... लेकिन  जब  दोस्त  अजनबी  बन जाता  है  यहाँ  बोहोत  दुःख  की  बात  हैं। 



26.  वो  सच्चा  दोस्त  ही  है ..... जो  आप  का  आँखे  देखकर आपका  दर्द  समझ  जाता  हैं। 
वार्ना  सब  लोग  तो  आपका  मुस्कान  देखता  है



27.  झूठा  दोस्त  अफवाहों  
मे  बिस्वास  करते  है। ... और सच्चा  दोस्त  आप  पे। 


 28.  झूठे  दोस्त  आपके  पास  तभी  रहेगा .......  जब  आपके पास  उन
के  लिए  कुछ  फायदे  रहेगा। 


29.  दोस्ती  ऐनक  के  तरह  रहना  चाहिए। ....... ताकि  कुछ छुपना  सके।



30.  सच्चा  दोस्ती  हवा  के  तरह   होता   
हैं ..... कभी  देख  नहीं पाओगे।  लेकिन  महसूस  कर  पाओगे।


31.  दोस्त  के  साथ  रहने  से  दोस्त  का  पता  नहीं  चलता है। .... वक़्त  के  साथ  दोस्ती  का  पता  चलता  है। 


 32.  दोस्ती  पत्थर  के  तरह  होता  है। ... तोडना  मुश्किल  है। लेकिन  टूट  जय  तो  जोड़  न  मुश्किल  है।